Design a site like this with WordPress.com
Get started

दुश्मनी क्या होती है

दुश्मनी क्या होती है
ये हम मर्दों से पूछो जनाब
तुमको लगता है कि हमे
गुस्सा नहीं आता
जब तुम गैरों से बाते करते हो
हमे तो उन हवाओं से भी
दुश्मनी है जो तुम्हें
छू कर गुजरती है

Ha mana…

हाँ माना
हो गया हूं खुदगर्ज मैं
तो क्या तुम ना थे
जब जा रहे थे छोडकर मुझको तुम
जिसने तुम्हें रोका
क्या वो हम ना थे
पर तुम तो माने नि
मैंने दिए थे वास्ते तुम्हें
उन कसमों, उन वादों के
जो तुमने मुझसे किए थे
उन सबको दरकिनार कर जाने वाले
वो हम ना थे,
हाँ माना, हो गए हैं
खुदगर्ज हम तो क्या
तुम ना थे

Dil leke

दिल लेके मेरा
हाथो मे, क्या लोगे उसका दाम
तो हमने भी कह दिया
इक बार जो तुम मुस्कुरा दो
मुझे देख कर भरे महफिल में
फिर ले जाओ सरे आम

पर क्यू

तुम जा रहे हो, पर क्यूँ
मैंने तो कोई वैसी बात, भी नहीं कही
अच्छा तो तुमको बुरा लगा
मेरा तुम्हारी दोस्त से बात करना
पर मैंने तो ऐसी कोई बात ना कहीं
बुरा लगा तो माफी मांगता हूँ मैं
कि साथ तेरे चल सकू
बस यही मांगता हूँ मैं

Har baar

उनका हर बार
मेरे hi या hello
कहने पर कि
क्या है
अब उनसे कैसे कहे
हम तो वही है
जो हम थे
पर शायद वो
बदलने लगे हैं

every time
my hi or hello
on saying to her
what is she say
how to tell them now
Iam the same
who we were
but maybe he
are starting to change

Ruth kr hmse

तुम यूँ जो रूठे कर
ग़मगीन बैठे हो हमसे
बस इक बार तुम
मिलों तो मुझसे
मेरे हमदम
तुम्हारे सारे ग़म
खुशी मे बदल
जाएगा

whatever you do
sitting sad with us
you only once
meet me then
my friend
all your sorrows
change to happiness
will go

Mujhme jinda hun…

https://nojoto.onelink.me/Wxeg/7sp48tac

जब तक
साथ थे हम
तो ये मालूम ना हुआ
जब दूर हुये
तुमसे तो
पता लगा मुझे
की मुझमे
जिंदा हूँ
मैं